You are here: India / world Countries of the World

Afghanistan

Afghanistan

Geography:-Afghanistan, approximately the size of Texas, is bordered on the north by Turkmenistan, Uzbekistan, and Tajikistan, on the extreme northeast by China, on the east and south by Pakistan, and by Iran on the west. The country is split east to west by the Hindu Kush mountain range, rising in the east to heights of 24,000 ft (7,315 m). With the exception of the southwest, most of the country is covered by high snow-capped mountains and is traversed by deep valleys.

Government In June 2002 a multiparty republic replaced an interim government that had been established in Dec. 2001, following the fall of the Islamic Taliban government.

History:-Darius I and Alexander the Great were the first to use Afghanistan as the gateway to India. Islamic conquerors arrived in the 7th century, and Genghis Khan and Tamerlane followed in the 13th and 14th centuries. In the 19th century, Afghanistan became a battleground in the rivalry between imperial Britain and czarist Russia for control of Central Asia. Three Anglo-Afghan wars (1839–1842, 1878–1880, and 1919) ended inconclusively. In 1893 Britain established an unofficial border, the Durand Line, separating Afghanistan from British India, and London granted full independence in 1919. Emir Amanullah founded an Afghan monarchy in 1926.

National name: Jomhuri-ye Eslami-ye Afghanestan Languages: Dari Persian, Pashtu (both official), other Turkic and minor languages Ethnicity/race: Pashtun 42%, Tajik 27%, Hazara 9%, Uzbek 9%, Aimak 4%, Turkmen 3%, Baloch 2%, other 4% Religion: Sunni Muslim 80%, Shia Muslim 19%, other 1% National Holiday: Independence Day, August 19 Literacy rate: 28.1% (2000 est.) Economic summary: GDP/PPP (2013 est.): $45.3 billion; per capita $1,100. Real growth rate: 3.1% (2013 est.). Inflation: 6.8% (2013 est.). Unemployment: 35% (2008 est.). Arable land: 11.95%. Agriculture: opium, wheat, fruits, nuts; wool, mutton, sheepskins, lambskins. Labor force: 15 million; agriculture 80%, industry 10%, services 10%. Natural resources: natural gas, petroleum, coal, copper, chromite, talc, barites, sulfur, lead, zinc, iron ore, salt, precious and semiprecious stones. Industries: small-scale production of textiles, soap, furniture, shoes, fertilizer, cement; handwoven carpets; natural gas, coal, copper. Exports: $376 million; note - not including illicit exports or reexports (2012): opium, fruits and nuts, handwoven carpets, wool, cotton, hides and pelts, precious and semiprecious gems. Imports: $6.39 billion (2012): capital goods, food, textiles, petroleum products. Major trading partners: Pakistan, India, U.S., Germany, Russia, China, Tajikistan. Communications: Telephones: main lines in use: 13,500 (2012); mobile cellular: 18 million (2012). Radio broadcast stations: AM 21, FM 5, shortwave 1 (broadcasts in Pashtu, Afghan Persian (Dari), Urdu, and English) (2007). Television broadcast stations: at least 7 (1 government-run central television station in Kabul and regional stations in 6 of the 34 provinces) (2007). Internet users: 1,000,000 (2012). Transportation: Highways: total: 42,150 km; (2012). Waterways: 1,200 km; chiefly Amu Darya, which handles vessels up to about 500 DWT. Ports and harbors: Kheyrabad, Shir Khan. Airports: 52 (2012). International disputes: World's largest producer of opium; poppy cultivation increased 57%, from 115,000 hectares in 2011 to 180,000 hectares in 2012. The Taliban and other antigovernment groups participate in and profit from the opiate trade, which is a key source of revenue for the Taliban inside Afghanistan; widespread corruption and instability impede counterdrug efforts; most of the heroin consumed in Europe and Eurasia is derived from Afghan opium; Afghanistan is also struggling to respond to a burgeoning domestic opiate addiction problem; vulnerable to drug money laundering through informal financial networks; regional source of hashish (2013).

इतिहास:-मानव बसाहट १०,००० साल से भी अधिक पुराना हो सकता है। ईसा के १८०० साल पहले आर्यों का आगमन इस क्षेत्र में हुआ। ईसा के ७०० साल पहले इसके उत्तरी क्षेत्र मे गांधार महाजनपद था जिसके बारे में भारतीय स्रोत महाभारत तथा अन्य ग्रंथों में वर्णन मिलता है। ईसापूर्व ५०० में फ़ारस के हखामनी शासकों ने इसको जीत लिया। सिकन्दर के फारस विजय अभियान के तहते अफ़गानिस्तान भी यूनानी साम्राज्य का अंग बन गया। इसके बाद यह शकों के शासन में आए। शक स्कीथियों के भारतीय अंग थे। ईसापूर्व २३० में मौर्य शासन के तहत अफ़ग़ानिस्तान का संपूर्ण इलाका आ चुका था पर मौर्यों का शासन अधिक दिनों तक नहीं रहा। इसके बाद पार्थियन और फ़िर सासानी शासकों ने फ़ारस में केन्द्रित अपने साम्राज्यों का हिस्सा इसे बना लिया। सासनी वंश इस्लाम के आगमन से पूर्व का आखिरी ईरानी वंश था। अरबों ने ख़ुरासान पर सन् ७०७ में अधिकार कर लिया। सामानी वंश, जो फ़ारसी मूल के पर सुन्नी थे, ने ९८७ इस्वी में अपना शासन गजनवियों को खो दिया जिसके फलस्वरूप लगभग संपूर्ण अफ़ग़ानिस्तान ग़ज़नवियों के हाथों आ गया। ग़ोर के शासकों ने गज़नी पर ११८३ में अधिकार कर लिया।मध्यकाल में कई अफ़्गान शासकों ने दिल्ली की सत्ता पर अधिकार किया या करने का प्रयत्न किया जिनमें लोदी वंश का नाम प्रमुख है। इसके अलावा भी कई मुस्लिम आक्रमणकारियों ने अफगान शाहों की मदद से हिन्दुस्तान पर आक्रमण किया था जिसमें बाबर, नादिर शाह तथा अहमद शाह अब्दाली शामिल है। अफ़ग़ानिस्तान के कुछ क्षेत्र दिल्ली सल्तनत के अंग थे

नाम:-अफ़्ग़ानिस्तान का नाम अफगान और स्तान से मिलकर बना है जिसका शाब्दिक अर्थ है अफ़गानों की भूमि। स्तान इस क्षेत्र के कई देशों के नाम में है जैसे- पाकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, कज़ाख़स्तान,हिन्दुस्तान इत्यादि जिसका अर्थ है भूमि या देश। अफ़्गान का अर्थ यहां के सबसे अधिक वसित नस्ल (पश्तून) को कहते है। अफ़्गान शब्द को संस्कृत अवगान से निकला हुआ माना जाता है। ध्यान रहे की "अफ़्ग़ान" शब्द में ग़ की ध्वनी है और "ग" की नहीं।अफ़ग़ानिस्तान इस्लामिक गणराज्य दक्षिणी मध्य एशिया में अवस्थित देश है, जो चारो ओर से जमीन से घिरा हुआ है। प्रायः इसकी गिनती मध्य एशिया के देशों में होती है पर देश में लगातार चल रहे संघर्षों ने इसे कभी मध्य पूर्व तो कभी दक्षिण एशिया से जोड़ दिया है। इसके पूर्व में पाकिस्तान, उत्तर पूर्व में भारत तथा चीन, उत्तर में ताजिकिस्तान, कज़ाकस्तान तथा तुर्कमेनिस्तान तथा पश्चिम में ईरान है।अफ़ग़ानिस्तान रेशम मार्ग और मानव प्रवास का एक प्राचीन केन्द्र बिन्दु रहा है। पुरातत्वविदों को मध्य पाषाण काल के मानव बस्ती के साक्ष्य मिले हैं। इस क्षेत्र में नगरीय सभ्यता की शुरुआत 3000 से 2,000 ई.पू. के रूप में मानी जा सकती है। यह क्षेत्र एक ऐसे भू-रणनीतिक स्थान पर अवस्थित है जो मध्य एशिया और पश्चिम एशिया को भारतीय उपमहाद्वीप की संस्कृति से जोड़ता है। इस भूमि पर कुषाण,हफ्थलिट, समानी, गजनवी, मोहमद गौरी, मुगल, दुर्रानी और अनेक दूसरे प्रमुख साम्राज्यों का उत्थान हुआ है। प्राचीन काल में फ़ारस तथा शक साम्राज्यों का अंग रहा अफ़्ग़ानिस्तान कई सम्राटों, आक्रमणकारियों तथा विजेताओं की कर्मभूमि रहा है। इनमें सिकन्दर, फारसी शासक दारा प्रथम, तुर्क,मुगल शासक बाबर, मुहम्मद गौरी, नादिर शाह इत्यादि के नाम प्रमुख हैं। ब्रिटिश सेनाओं ने भी कई बार अफ़ग़ानिस्तान पर आक्रमण किया। वर्तमान में अमेरिका द्वारा तालेबान पर आक्रमण किये जाने के बाद नाटो(NATO) की सेनाएं वहां बनी हुई हैं।अफ़ग़ानिस्तान के प्रमुख नगर हैं- राजधानी काबुल, कंधार। यहाँ कई नस्ल के लोग रहते हैं जिनमें पश्तून (पठान या अफ़ग़ान) सबसे अधिक हैं। इसके अलावा उज्बेक, ताजिक, तुर्कमेन और हज़ारा शामिल हैं। यहाँ की मुख्य भाषा पश्तो है। फ़ारसी भाषा के अफ़गान रूप को दरी कहते हैं।

भूगोल:-अफ़ग़ानिस्तान चारों ओर से ज़मीन से घिरा हुआ है और इसकी सबसे बड़ी सीमा पूर्व की ओर पाकिस्तान से लगी है। इसे डूरण्ड रेखा भी कहते हैं। केन्द्रीय तथा उत्तरपूर्व की दिशा में पर्वतमालाएँ हैं जो उत्तरपूर्व में ताजिकिस्तान स्थित हिन्दूकुश पर्वतों का विस्तार हैं। अक्सर तापमान का दैनिक अन्तरण अधिक होता है।

Advertisements


Poll

सरकारी स्कूलों में गिरती छात्र संख्या के लिए कौन जिम्मेदार है ?

  • सरकार
  • शिक्षक
  • अभिभावक
  • छात्र
  • सरकार/शिक्षक/अभिभावक