You are here: India / world Countries of the World

Algeria

Algeria

Geography:- Nearly four times the size of Texas and the largest country on the continent, Algeria is bordered on the west by Morocco and Western Sahara and on the east by Tunisia and Libya. The Mediterranean Sea is to the north, and to the south are Mauritania, Mali, and Niger. The Saharan region, which is 85% of the country, is almost completely uninhabited. The highest point is Mount Tahat in the Sahara, which rises 9,850 ft (3,000 m).

Government:-Parliamentary republic.

History:- Excavations in Algeria have indicated that Homo erectus resided there between 500,000 and 700,000 years ago. Phoenician traders settled on the Mediterranean coast in the 1st millennium B.C. As ancient Numidia, Algeria became a Roman colony, part of what was called Mauretania Caesariensis, at the close of the Punic Wars (145 B.C. ). Conquered by the Vandals about A.D. 440, it fell from a high state of civilization to virtual barbarism, from which it partly recovered after an invasion by Arabs about 650. Christian during its Roman period, the indigenous Berbers were then converted to Islam. Falling under the control of the Ottoman Empire by 1536, Algiers served for three centuries as the headquarters of the Barbary pirates. Ostensibly to rid the region of the pirates, the French occupied Algeria in 1830 and made it a part of France in 1848. Algerian independence movements led to the uprisings of 1954–1955, which developed into full-scale war. In 1962, French president Charles de Gaulle began the peace negotiations, and on July 5, 1962, Algeria was proclaimed independent. In Oct. 1963, Ahmed Ben Bella was elected president, and the country became Socialist. He began to nationalize foreign holdings and aroused opposition. He was overthrown in a military coup on June 19, 1965, by Col. Houari Boumédienne, who suspended the constitution and sought to restore economic stability. After his death, Boumédienne was succeeded by Col. Chadli Bendjedid in 1978. Berbers rioted in 1980 when Arabic was made the country's only official language. Algeria entered a major recession after world oil prices plummeted in the 1980s. National name: Al Jumhuriyah al Jaza'iriyah ad Dimuqratiyah ash Sha'biyah Ethnicity/race: Arab-Berber 99%, European less than 1% Religion: Muslim (official; predominantly Sunni) 99%, other (includes Christian and Jewish) National Holiday: Revolution Day, November 1 Literacy rate: 79% Economic summary: GDP/PPP (2013 est.): $284.7 billion; per capita $7,500. Real growth rate: 3.1%. Inflation:3.9%. Unemployment: 10.3%. Arable land: 3.15%. Agriculture: wheat, barley, oats, grapes, olives, citrus, fruits; sheep, cattle. Labor force: 11.15 million; agriculture 14%, industry 13.4%, construction and public works 10%, trade 14.6%, government 32%, other 16% (2003 est.). Industries: petroleum, natural gas, light industries, mining, electrical, petrochemical, food processing. Natural resources: petroleum, natural gas, iron ore, phosphates, uranium, lead, zinc. Exports: $68.2 billion f.o.b. (2013 est.): petroleum, natural gas, and petroleum products 97%. Imports: $55.02 billion f.o.b. (2013 est.): capital goods, foodstuffs, consumer goods. Major trading partners:France, Italy, China, Germany, Spain, U.S., Netherlands, Canada, UK, Brazil (2012) Communications: Telephones: main lines in use: 3.2 million (2012); mobile cellular: 37.692 million (2012). Internet hosts: 676 (2012). Internet users: 4.7 million (2012). Transportation: Railways: total: 3,973 km (2011). Highways: total: 113,655 km; (2011). Ports and harbors:Algiers, Annaba, Arzew, Bejaia, Djendjene, Jijel, Mostaganem, Oran, Skikda. Airports: 157 (2013). International disputes: Algeria and many other states reject Moroccan administration of Western Sahara; the Polisario Front, exiled in Algeria, represents the Sahrawi Arab Democratic Republic; Algeria's border with Morocco remains an irritant to bilateral relations, each nation accusing the other of harboring militants and arms smuggling; dormant disputes include Libyan claims of about 32,000 sq km still reflected on its maps of southeastern Algeria and the National Liberation Front's (FLN) assertions of a claim to Chirac Pastures in southeastern Morocco.

इतिहास:-पुराने समय में अल्जीरिया को सल्तनत नोमेडिया कहा जाता था। उसके लोग नोमेडियन कहते थे। इस साम्राज्य के संबंध उस समय के प्राचीन यूनान और रोमन राष्ट्रों के साथ थे। इस क्षेत्र उपजाऊ क्षेत्र के रूप में जाना जाता था और यहाँ के लोग गढ़ सवारी विशेषज्ञ थे। उत्तरी अफ्रीका के स्थानीय लोग अंततः बर्बर बने। 1000 में कर्ताजना जनजातियों तट के साथ समुदाय बसाने शुरू कर दिया। बर्बर जनजातियों ने अवसर पाकर कर्ताजनों से आज़ादी पा ली और बर्बर सामराज्य की स्थापना हुई। 200 में इस क्षेत्र में रोमन साम्राज्य ने क़ब्ज़ा कर लिया। लेकिन जब 476 ई॰ में पश्चिमी रोमन राज्य का पतन हुआ तो बर्बर फिर से आज़ाद हो गए। बाद में यहाँ वन्दाल जनजातियों ने क़ब्ज़ा कर लिया जो बिज़ांतीनों आगमन तक क़ायम रहा। बिज़ांतीनों यहाँ 8 वीं शताब्दी तक मौजूद रहे तो अरब यहाँ क़ाबिज़ हो गए।

उत्पति:-देश का नाम अल्जीयर्स शहर से आया है। सबसे अधिक प्रचलित नाम-उतपत्ति शहर का नाम अल-जज़ायर (الجزائر, "द्वीप/टापू") से जोड़ती है, जो इस सहर के पुराने नाम जज़ायर बनी मज़घाना (جزائر بني مزغنة, "मज़घाना कबीले के टापू") का कतरे हुआ रूप है, जिसको अल-इदरीसी जैसे मध्य-काली भुगोल-शास्त्री के ईस्तेमाल करते थे। कुछ ओर लोग इसकी उत्पत्ति "Ldzayer" से मानते हैं जो इस देश का मघरेबी अरबी और बर्बर में नाम है जो शायद ज़िरीद राज-कुल के राजा और अल्जीयर्स के संस्थापक धान इब्न-मंद के साथ सम्बन्धित है।
अल्जीरिया,अधिकारिक तौर पर अल्जीरिया का जन-लोकतंत्रीय गणराज्य और जिसको रसमी तौर पर लोकतंत्रीय और लोग-प्यारा अलजीरियायी गणराज्य भी कहा जाता है, अफ़्रीका के मघरेब क्षेत्र में स्थित एक देश है जिसकी राजधानी और सबसे अधिक आबादी वाला शहर अल्जीयर्स है।
वर्तमान अल्जीरिया का क्षेत्र बहुत सारी प्राचीन सभ्यताएँ, जैसे अतेर्यायी और कैपसियन, की पृष्ठभूमि थी। इस इलाक़े पर बहुत सल्तनतों और राज्य-कुलों का शासन रहा है जिस में नुमिदियायी, करथागिन्यायी, रोमन, वंडल, बिज़ांतीन, अरबी उमय्यद, बर्बर फ़ातिमीद और अलमोहाद और पीछे के तुर्की ओटोमन शामिल हैं।
आळ्जीरिया 48 सूबों और 1541 प्रगणों वाला अर्द्ध राष्ट्रपति प्रधान गणराज्य है। 3.7 करोड़ से अधिक आबादी से यह विश्व का 34वाँ सबसे बढ़ आबादी वाला देश है। भाषाई तौर पर यह अरबी मुल्क है जिसकी कुछ स्थानिक बोलियाँ (उपभाषाएँ) हैं। इसकी अर्थ व्यवस्था तेल-आधारित है जो डच रोग (अर्थ-शात्र की एक धारणा) से प्रभावित है। सोनातराच, जो कि राष्ट्रीय तेल-कंपनी है, अफ्रीका में सबसे बड़ी है। इसकी सेना अफ्रीका और अरब-जगत में मिस्र के बाद सबसे बड़ी है और रूस और चीन इसके युद्धनैतिक एहतियाती मुल्क और सस्तर पूर्तिकर्ता हैं।
2,381,741 वर्ग कि॰मी के क्षेत्रफ़ल से यह दुनिया का दसवाँ सबसे बड़ा मुल्क है। इसकी सीमाएँ उत्तर-पूर्व में ट्यूनीशिया, पूर्व में लीबिया, पश्चिम में मोरक्को, दक्षिण-पश्चिम में पश्चिमी सहारा, मारिटेनिया और माली, दक्षिण-पूर्व में नाइजर और उत्तर में भू-मध्य सागर से लगती हैं। अन्दाज़े के अनुसार 2012 तक इसकी कुल आबादी 3.79 करोड़ है[14]। यह अफ़्रीकी संघ, अरब संगठन, तेल निरयाती मुल्कों का संगठन और संयुक्त राष्ट्र का सदस्य और अरब मघरेब संघ का संस्थापिक सदस्य है।

राजधानी:-अल्जीयर्स
राजभाषा(एँ):-अरबी
निवासी:-अल्जीरियाई
क्षेत्रफल:-919595 वर्ग मील

 

 

Advertisements


Poll

सरकारी स्कूलों में गिरती छात्र संख्या के लिए कौन जिम्मेदार है ?

  • सरकार
  • शिक्षक
  • अभिभावक
  • छात्र
  • सरकार/शिक्षक/अभिभावक