You are here: India / world Countries of the World

Mauritius

Mauritius

Geography: Mauritius is a mountainous island in the Indian Ocean east of Madagascar.

Government :Parliamentary democracy within the British Commonwealth.

History: After a brief Dutch settlement, French immigrants who came in 1715 named the island Île de France and established the first road and harbor infrastructure, as well as the sugar industry, under the leadership of Gov. Mahe de Labourdonnais. Blacks from Africa and Madagascar came as slaves to work in the sugarcane fields. In 1810, the British captured the island and in 1814, by the Treaty of Paris, it was ceded to Great Britain along with its dependencies. Indian immigration, which followed the abolition of slavery in 1835, rapidly changed the fabric of Mauritian society, and the country flourished with the increased cultivation of sugarcane. The opening of the Suez Canal in 1869 heralded the decline of Mauritius as a port of call for ships rounding the southern tip of Africa, bound for South and East Asia. The economic instability of the price of sugar, the main crop, in the first half of the 20th century brought civil unrest, then economic, administrative, and political reforms. Mauritius became independent on March 12, 1968.

Capital:Port Louis, Languages: Creole 86.5%, Bhojpuri 5.3%, French 4.1%, two languages 1.4%, other 2.6% (includes English, the official language, which is spoken by less than 1% of the population), unspecified 0.1% (2011 est.) Ethnicity/race: Indo-Mauritian 68%, Creole 27%, Sino-Mauritian 3%, Franco-Mauritian 2% Religions: Hindu 48.5%, Roman Catholic 26.3%, Muslim 17.3%, other Christian 6.4%, other 0.6%, none 0.7%, unspecified 0.1% (2011 est.) National Holiday: Independence Day, March 12 Literacy rate: 88.8% (2011 est.) Economic summary: GDP/PPP (2013 est.): $20.95 billion; per capita $ $16,100 . Real growth rate: 3.5%.Inflation: 3.5%. Unemployment: 8.3%. Arable land: 38.24%. Agriculture: sugarcane, tea, corn, potatoes, bananas, pulses; cattle, goats; fish. Labor force: 637,600; construction and industry 30%, services 25%, agriculture and fishing 9%, trade, restaurants, hotels 22%, transportation and communication 7%, finance 6% (2007). Industries: food processing (largely sugar milling), textiles, clothing, chemicals, metal products, transport equipment, nonelectrical machinery, tourism. Natural resources: arable land, fish. Exports: $2.788 billion (2013 est.): clothing and textiles, sugar, cut flowers, molasses. Imports: $4.953 billion (2013 est.): manufactured goods, capital equipment, foodstuffs, petroleum products, chemicals. Major trading partners: UK, Spain, France, U.S., Madagascar, South Africa, Italy, China, India (2012). Member of Commonwealth of Nations Communications: Telephones: main lines in use: 349,100 (2012); mobile cellular: 1.485 million (2012). Broadcast media: the government maintains control over TV broadcasting through the Mauritius Broadcasting Corporation (MBC), which operates 3 analog and 10 digital TV stations; MBC is a shareholder in a local company that operates 2 pay-TV stations; the state retains the largest radio broadcast network with multiple stations; several private radio broadcasters have entered the market since 2001; transmissions of at least 2 international broadcasters are available (2007). Internet Service Providers (ISPs): 51,139 (2012). Internet users: 290,000 (2009). Transportation: Railways: 0 km. Highways: total: 2,149 km; paved: 2,149 km (including 75 km of expressways) (2012). Ports and harbors: Port Louis. Airports: 5 (2013). International disputes: Mauritius and Seychelles claim the Chagos Islands; claims French-administered Tromelin Island.

राजधानी: पोर्ट लुई,

मॉरीशस गणराज्य(अंग्रेज़ी: Republic of Mauritius, फ़्रांसीसी : République de Maurice), अफ्रीकी महाद्वीप के तट के दक्षिणपूर्व में लगभग 900 किलोमीटर की दूरी पर हिंद महासागर मे औरमेडागास्कर के पूर्व मे स्थित एक द्वीपीय देश है। मॉरीशस द्वीप के अतिरिक्त इस गणराज्य मे, सेंट ब्रेंडनरॉड्रीगज़ और अगालेगा द्वीप भी शामिल हैं। दक्षिणपश्चिम मे 200 किलोमीटर पर स्थित फ्रांसीसी रीयूनियन द्वीप और 570 किलोमीटर उत्तर पूर्व मे स्थित रॉड्रीगज़ द्वीप के साथ मॉरीशस मस्कारेने द्वीप समूह का हिस्सा है। मारीशस की संस्कृति, मिश्रित संस्कृति है, जिसका कारण पहले इसका फ्रांस के आधीन होना तथा बाद मे ब्रिटिश स्वामित्व मे आना है। मॉरीशस द्वीप विलुप्त हो चुके डोडो पक्षी के अंतिम और एकमात्र घर के रूप में भी विख्यात है।

इतिहास

मॉरीशस के सबसे पुराने अभिलेख लगभग 10 वीं शताब्दी की शुरुआत के हैं जो द्रविड़ (तमिल) और औस्ट्रोनेशी नाविकों के संदंर्भ से आते है। पुर्तगाली नाविकों पहले पहल यहाँ 1507 में आये और उन्होने इस निर्जन द्वीप पर एक यात्रा अड्डा स्थापित किया और फिर इस द्वीप को छोड़ कर चले गये। सन् 1598 में हॉलैंड के तीन पोत जो मसाला द्वीप (स्पाइस आइलैंड) की यात्रा पर निकले थे एक चक्रवात के दौरान रास्ता भटक कर यहाँ पहुँच गये। उन्होने इस द्वीप का नाम अपने नासाओ के युवराज मॉरिस के सम्मान में मॉरिशस रख दिया। सन्1638 में, डच लोगों ने यहाँ पहली स्थायी बस्ती बसाई। चक्रवातों वाली कठोर जलवायु परिस्थितियों और बस्ती को होने वाले लगातार नुक्सान के कारण डचो ने कुछ दशकों बाद इस द्वीप को छोड़ दिया। फ्रांस, जिसका पहले से ही इसके पड़ोसी आइल बॉरबोन (अब रीयूनियन) द्वीप पर नियंत्रण था ने सन् 1715 में मॉरीशस पर कब्ज़ा कर लिया और इसका नाम बदलकर – आइल दे फ्रांस (फ्रांस का द्वीप) रख दिया। फ्रांस के शासन मे, यह द्वीप एक समृद्ध अर्थव्यवस्था के रूप मे विकसित हुआ जो चीनी उत्पादन पर आधारित थी। यह आर्थिक परिवर्तन गवर्नर (राज्यपाल) फ्रेंकॉएस माहे दे लेबॉर्डॉनाइस के द्वारा शुरू किया गया था।ब्रिटेन के साथ अपने कई सैन्य संघर्षों के दौरान, फ्रांस ने गैरकानूनी घोषित जलदस्युओं "कोर्सेर्स" को शरण दी, जो अक्सर ब्रिटिश जहाजो, जिन पर मूल्यवान व्यापार का माल लदा होता था को उनकी भारत और ब्रिटेन के मध्य होने वाली यात्राओं के दौरान लूट लेते थे। सन् 1803-1815 के दौरान हुए नेपोलियन युद्धों मे ब्रिटिश इस द्वीप का नियंत्रण पाने मे सफल हो गये। ग्रांड पोर्ट की लड़ाई जीतने के बावजूद, जो कि नेपोलियन की ब्रिटिशों पर एकमात्र समुद्री विजय थी, फ्रांसीसी, तीन महीने बाद, केप मैलह्युरॉ (Malheureux) मे ब्रिटेन से हार गये। उन्होनें औपचारिक रूप से 3 दिसम्बर 1810 को कुछ शर्तों के साथ समर्पण कर दिया, ये शर्तें थीं, कि द्वीप पर फ्रांसीसी भाषा का प्रयोग जारी रहेगा और आपराधिक मामलों में नागरिकों पर फ्रांस का कानून लागू होगा। ब्रिटिश शासन के अंतर्गत, इस द्वीप का नाम बदलकर वापस मॉरीशस कर दिया गया।सन् 1965 में, ब्रिटेन (यूनाइटेड किंगडम) ने छागोस द्वीपसमूह को मॉरीशस से अलग कर दिया। उन्होने ऎसा ब्रिटिश हिंद महासागर क्षेत्र स्थापित करने के लिये किया जिससे वे सामरिक महत्व के द्वीपों का प्रयोग संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ रक्षा सहयोग के विभिन्न प्रयोजनों के लिए कर सकें। हालाँकि मॉरीशस की तत्कालीन सरकार उनके इस कदम से सहमत थी पर बाद की सरकारों ने उनके इस कदम को अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत अवैध बताया है और इन द्वीप समूहों पर अपना अधिकार जताया है। उनके इस दावे को, संयुक्त राष्ट्र द्वारा भी मान्यता दी गयी है।मॉरीशस ने 1968 में स्वतंत्रता प्राप्त की और देश राष्ट्रमंडल के तहत, सन्1992 मे एक गणतंत्र बना। मॉरीशस एक स्थिर लोकतंत्र है जहाँ नियमित रूप से स्वतंत्र चुनाव होते हैं और मानवाधिकारों के मामले मे भी देश की छवि अच्छी है, इसके चलते यहाँ काफी विदेशी निवेश हुआ है और यह देश अफ्रीका मे सबसे अधिक प्रति व्यक्ति आय वाले देशों मे से एक है।

भूगोल

मॉरीशस मास्कारेने द्वीप समूह का हिस्सा है। इस द्वीपसमूह की श्रृंखला उन अंत:समुद्री ज्वालामुखीय विस्फोटों के कारण बनी है जो अब सक्रिय नहीं हैं। यह ज्वालामुखीय विस्फोट अफ्रीकी प्लेट के रीयूनियन तप्तबिन्दु के ऊपर सरकने के कारण हुए थे। मॉरीशस द्वीप एक केंद्रीय पठार के चारों ओर बना है, जिसकी उच्चतम चोटी पितोन डे ला पेतित रिवियेरे नोएरे 828 मीटर (2717 फुट) उंची है और इसके दक्षिण मे स्थित है। पठार के आसपास, मूल गर्त फिर भी पहाड़ों से अलग दिखाई पड़ता है।स्थानीय जलवायु उष्णकटिबंधीय है, जो दक्षिणपूर्व की हवाओं द्वारा संशोधित होती है। यहाँ मई से नवंबर तक शुष्क सर्दियों पड़तीं हैं और नवम्बर से मई का मौसम गर्म, आद्र और गीली गर्मी का होता है। विरोधी-चक्रवात देश को मई से सितंबर के दौरान प्रभावित करते है। चक्रवातों का समय नवंबर-अप्रैल होता है। हॉलैंडा (1994) और दीना (2002) पिछले दो चक्रवात हैं जिन्होने द्वीप को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है।उत्तरपश्चिम मे स्थित पोर्ट लुई इस द्वीप की राजधानी और सबसे बड़ा शहर है। अन्य महत्वपूर्ण शहरों मे क्यूरेपाइपवकोआसफ़ीनिक्सकुआर्ते बोर्नेसरोज़ हिल और बीयू-बासिन शामिल है।यह् द्वीप अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए जाना जाता है। उदाहरण के लिए, लेखक मार्क ट्वेन, ने अपने निजी यात्रा वृतांत ‘फॉलॉइंग द एक्वेटर’ मे लिखा है कि " मॉरिशस के देख कर आपको विचार आता है पहले मॉरिशस बना और फिर स्वर्ग और स्वर्ग, मॉरीशस की एक नकल मात्र है।”

 

Advertisements


Poll

सरकारी स्कूलों में गिरती छात्र संख्या के लिए कौन जिम्मेदार है ?

  • सरकार
  • शिक्षक
  • अभिभावक
  • छात्र
  • सरकार/शिक्षक/अभिभावक