रूसी मोदी-( मृत्यु- 16 मई, 2014)

May 16, 2017

स्तमजी होमुसजी मोदी संक्षिप्त नाम 'रूसी मोदी' ( जन्म- 17 मई, 1918, मुम्बई ; मृत्यु- 16 मई, 2014, कोलकाता) टाटा समूह के शीर्ष सदस्य थे। वे एयर इंडिया और तत्कालीन इंडियन एयरलाइंस के पूर्व संयुक्त अध्यक्ष और टाटा स्टील के सीएमडी थे। रूसी मोदी वर्ष 1939 में तत्कालीन टेस्को कंपनी में दैनिक वेतन भोगी के तौर पर एक प्रशिक्षु के रूप में जुड़े थे। तब उन्हें 50 पैसे दैनिक वेतन मिलता था। धीरे-धीरे वे कंपनी के लिए काम करते गए और 1993 में टाटा स्टील के अध्यक्ष नियुक्त किये गए। इन्होंने जमशेदपुर को इस्ताप नगरी बनाने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।




जन्म तथा परिवार
रूसी मोदी का जन्म 17 मई, 1918 को बम्बई प्रेसीडेंसी (ब्रिटिश कालीन भारत) में एक पारसी परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम सर होमी मोदी था और माता लेडी जेराबाई थीं। इनके दो भाई थे। रूसी मोदी का विवाह सिलु मुगासेठ से हुआ था। इनकी कोई संतान नहीं थी।[1]


शिक्षा


रूसी मोदी की प्रारम्भिक शिक्षा भारत में ही हुई थी। हालाँकि आगे की शिक्षा पूरी करने के लिए उन्हें विदेश भेज दिया गया था। उन्होंने लंदन के हैरो स्कूल से शिक्षा पाई और फिर वहीं के क्राइस्ट चर्च कॉलेज, ऑक्सफ़ोर्ड से अपनी स्नातक की शिक्षा पूर्ण की।


आइंसटीन का साथ
'जमशेदपुर सिटीजन फ़ोरम' के अध्यक्ष ए. के. श्रीवास्तव के अनुसार उत्तर प्रदेश के राज्यपाल रहे सर होमी मोदी के पुत्र रूसी मोदी को इंग्लैंड के 'ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय' में पढ़ाई के दौरान महान वैज्ञानिक आइंसटीन के साथ भी वक्त बिताने का मौका मिला था।


प्रशिक्षु रूप में कार्य
अपनी शिक्षा पूर्ण करने के बाद वर्ष 1939 में रूसी मोदी भारत वापस लौट आये और फिर 'टिस्को कम्पनी' में ऑफ़िस असिस्टेंट के रूप में दैनिक वेतन भोगी के तौर पर एक प्रशिक्षु के रूप में काम करना शुरू किया। उस समय उन्हें पचास पैसे दैनिक वेतन मिलता था। वे अपनी मेहनत और लगन के साथ कम्पनी के लिए कार्य करते रहे।


कम्पनी के अध्यक्ष


इसके बाद अपनी कठोर मेहनत के बल पर रूसी मोदी 1953 में कंपनी के कार्मिक निदेशक बने और 1965 में कच्चे माल के निदेशक बने। वर्ष 1970 में वह संचालन निदेशक नियुक्त किए गए और 1972 में संयुक्त प्रबंध निदेशक बन गए। दो वर्ष बाद ही वह प्रबंध निदेशक बन गए और 1984 में कंपनी के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक बने। नौ वर्ष तक टाटा स्टील का नेतृत्व करने के बाद टाटा ग्रुप के चेयरमैन रतन टाटा के साथ कथित विवाद के कारण उन्हें 1993 में टिस्को से बाहर होना पड़ा।


पुरस्कार व सम्मान
टिस्को से सेवानिवृति के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री पी. वी. नरसिंह राव ने रूसी मोदी को एयर इंडिया और पूववर्ती इंडियन एयरलाइंस का संयुक्त अध्यक्ष नियुक्त किया। 'भारत सरकार' ने उनकी उपलब्धियों को देखते हुए उन्हें 1989 में 'पद्मभूषण' पुरस्कार से नवाजा। काम से सेवानिवृत के बाद उन्होंने कोलकाता महानगर को अपना घर बना लिया।[1] रूसी मोदी टाटा स्टील में तीन दशकों तक बेताज बादशाह थे। मैनेजमेंट गुरू रूसी मोदी को भारत के स्टील मैन की उपाधि से भी सम्मानित किया गया था।


जमशेदपुर की जनता के प्रिय
रूसी मोदी टाटा स्टील के कर्मचारियों के अतिरिक्त जमशेदपुर की जनता को भी बहुत प्रिय थे। उनमें हमेशा यहां के लोगों के बीच रहने की ललक रहती थी। एक बार उन्होंने जयराम यूथ क्लब का अध्यक्ष होने के नाते आदित्यपुर दुर्गा पूजा पंडाल का उद्घाटन करने का आग्रह किया तो सहर्ष तैयार हो गए थे। वह जब पंडाल का उद्घाटन करने पहुंचे तो उन्हें देखने के लिए इतनी भीड़ उमड़ी कि कई लोग मोदी साहब को देखने से वंचित रह गए।


लोकसभा चुनाव


रूसी मोदी ने वर्ष 1998 में जमशेदपुर लोकसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव भी लड़ा था। इस लोकसभा चुनाव में वे दूसरे स्थान पर रहे थे। उन्हें लगभग दो लाख वोट मिले थे, लेकिन वे 97,000 मतों से हार गए थे।


खेल में रुचि रखने वाले रूसी मोदी ने जमशेदपुर में 1987 में 'टाटा फुटबाल एकेडमी' की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
निधन
अधिक उम्र के बावजूद जब तक रूसी मोदी ने बिस्तर नहीं पकड़ा, तब तक वह सार्वजनिक रूप से सक्रिय जीवन व्यतीत करते रहे। दक्षिण कोलकाता के अलीपुर स्थित अपने आवास पर उन्होंने 16 मई, 2014 को शुक्रवार के दिन रात क़रीब 11.30 बजे अंतिम सांस ली। वह 97 वर्ष के थे। अधिक उम्र होने के कारण वह शारीरिक रूप से लाचार हो गये थे।


Rustomji Homusji Mody, known to most as Russi Mody (17 January 1918 – 16 May 2014) was a chairman and managing director of Tata Steel and a leading member of the Tata Group.
Russi was born on 17 January 1918 in Bombay (now Mumbai) to a Parsi family. His father was Sir Homi Mody. His mother was Lady Jerbai Mody née Dubash. Russi had two brothers, Kali Homi Mody and Piloo Mody. 


After a few years of schooling in India, he was sent to England for further studies. He studied at St Cyprian's School, Harrow School and later at Christ Church College, Oxford. On his return to India he joined Tata Steel as an office assistant. Russi was married to Siloo Mugaseth, the daughter of his mother's sister, and lived in Kolkata until his death.


Mody joined Tata Steel in 1939 and he was promoted to the position of Director of Personnel in 1953. He took up the position of the Director of Raw Materials in 1965. In 1970, he was appointed as Director of Operations and became Joint Managing Director in 1972.


After retiring from Tata Steel in March 1993, the then Prime Minister of India, Shri P V Narasimha Rao appointed Mody as Joint Chairman of Indian Airlines and Air India.


Russi Mody Centre for Excellence, built by noted architect Hafeez Contractor, contains archives the Tata Group was named after him.



Hearsay has it that Russi Mody was pulled up by a policeman as he tried to park his car on the narrow road. Admonished with "Tumhara baap ka rasta hain kya?" ("Does this road belong to your father?") the young scion pointed in good humour to the road sign indeed printed with the distinguished paternal name.


He was also known to eat 16-egg omelette for breakfasts. 


During his studies at Oxford, he happened to accompany Albert Einstein on the violin, while he played the piano.


Once, Sir Jehangir Ghandy was scheduled to come to Calcutta on a Wednesday afternoon when he would normally play tennis. In his diary lying on the table, he wrote, “TPT CSC meeting on Wednesday at 3 pm,” and told his secretaries to take Sir Jehangir to his room, show him the diary and say that Russi had gone to the meeting. True enough, Sir Jehangir came and was shown the diary. He nodded knowledgeably and walked away. Little did he know that TPT CSC was an abbreviation of “To Play Tennis at Calcutta South Club”.


Award
Padma Bhushan (1989)[15]

Mody died during the night of 16 May 2014 at a private hospital in Kolkata.