आनंद महिंद्रा (जन्म- 1 मई, 1955, मुम्बई, महाराष्ट्र)

May 01, 2020

आनंद महिंद्रा (अंग्रेज़ी: Anand Mahindra, जन्म- 1 मई, 1955, मुम्बई, महाराष्ट्र) महिंद्रा समूह की प्रमुख कंपनी ‘महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड’ के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं। महिंद्रा समूह भारत के सबसे प्रतिष्ठित 10 शीर्ष औद्योगिक घरानों में से एक है। इस प्रसिद्ध समूह को लुधियाना में आनंद के दादा बंधुओं जगदीशचंद्र व कैलाशचंद्र महिंद्रा द्वारा स्थापित किया गया था। आनंद महिंद्रा के कार्यकुशलता के परिणाम स्वरूप भारत सहित विश्व के अनेक देशों में महिंद्रा ट्रैक्टर, बोलेरो, एक्सयूवी500 और महिंद्रा स्कॉर्पियो जैसे वाहन ‘महिंद्रा उद्योग समूह’ की पहचान बन गए हैं। वित्तीय सेवाओं, पर्यटन, इंफ्रास्ट्रक्चर डेव्हलपमेंट, ट्रेड एवं लॉजिस्टिक्स क्षेत्रों में भी समूह की महत्वपूर्ण भागेदारी है, जो दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। आनंद महिंद्रा ने कई राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार आदि प्राप्त किये हैं। भारत सरकार ने इन्हें 'पद्म भूषण' (2020) देकर सम्मानित किया है।


परिचय
आनंद महिंद्रा का जन्म 1 मई, 1955 को मुंबई, महाराष्ट्र में एक प्रसिद्ध एवं संम्पन्न व्यवसायी परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम हरीश महिंद्रा और माता का नाम इंदिरा महिंद्रा था। वर्ष 1977 में इन्होंने अमेरिका के हार्वर्ड कॉलेज (कैम्ब्रिज, मैसाचुसेट्स) के ‘डिपार्टमेंट ऑफ विज्युल एंड एनवायरॉनमेंटल स्टडीज’ से स्नातक की शिक्षा प्राप्त की। वर्ष 1981 में इन्होंने ‘हार्वर्ड बिजनेस स्कूल’ (एचबीएस), बोस्टन, मैसाचुसेट्स से ‘बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन’ में स्नातकोत्तर (एमबीए) की शिक्षा प्राप्त की। आगे चलकर इनका विवाह अनुराधा महिंद्रा से हुआ, जिनसे इनकी दो बेटियां हैं। पत्नी अनुराधा प्रसिद्ध पत्रिका ‘वर्व’ और ‘मेंस वर्ल्ड’ की संपादक तथा ‘रोलिंग स्टोन इंडिया’ की एडिटर-इन-चीफ हैं।


आनंद महिंद्रा ने अपनी मां इंदिरा महिंद्रा के नाम पर हार्वर्ड विश्वविद्यालय को 100 करोड़ डॉलर का योगदान वहां के मानविकी केंद्र की गतिविधियों का विस्तार करने के लिए दान के रूप में दिया था। इस विशाल धनराशि को आनंद ने होमी भाभा मानविकी केंद्र के निदेशक के नेतृत्व में वहां पर स्थित विशिष्ट संस्थानों के उन्नति और आधुनिकीकरण के लिए दिया। आनंद महिंद्रा वर्ष 2005 में प्रारम्भ हुए ‘मुंबई महोत्सव’ के संस्थापक अध्यक्ष हैं। इसके अतिरिक्त वे ‘एशिया सोसायटी के अंतर्राष्ट्रीय परिषद्’, न्यूयॉर्क के सह-अध्यक्ष भी हैं


Anand Gopal Mahindra (born 1 May 1955) is an Indian billionaire businessman, and the chairman of Mahindra Group, a Mumbai-based business conglomerate. The group operates in aerospace, agribusiness, aftermarket, automotive, components, construction equipment, defence, energy, farm equipment, finance and insurance, industrial equipment, information technology, leisure and hospitality, logistics, real estate and retail. Mahindra is the grandson of Jagdish Chandra Mahindra, co-founder of Mahindra & Mahindra.


As of January 2020, his net worth is estimated to be $1.6 billion. He is an alumnus of Harvard University and Harvard Business School.In 1996, he established Nanhi Kali, a non-government organisation that supports education for underprivileged girls in India.


He is included by Fortune Magazine among the 'World's 50 Greatest Leaders'. and was in the magazine's 2011 listing of Asia's 25 most powerful businesspeople. Anand was noted by Forbes (India) as their 'Entrepreneur of the Year' for 2013.He was given the Padma Bhushan Award, the third Highest civilian award in India, in January 2020.